google.com, pub-3332830520306836, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

झील / जलप्रपात 

  • बिहार में अधिकतर झीलों का निर्माण मुख्य रूप से उत्तर बिहार की प्रमुख नदियों - कोसी, गण्डक, महानन्दा आदि के पथ परिवर्तन के कारण हुआ है। 

  • उत्तर बिहार में झीलों को ताल, चौर, मन आदि नाम से भी जाना जाता है। 

 

सुखलदरी जलप्रपात 

 

यह जलप्रपात उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और बिहार की सिमा पर स्थित है। यहाँ पर कनहर नदी लगभग 100 फ़ीट की ऊंचाई से गिरती है। 

परासडीह जल प्रपात 

 

पारसडीह गाँव के निकट पारस नदी, पण्डा नदी से मिलती है।  यहाँ पर पानी 370 फ़ीट की ऊंचाई से गिरता है।  

 

ककोलत जलप्रपात 

 नवादा से 22 किमी दक्षिण पूर्व में लोहरदगा पहाड़ियों पर सात धाराओं का एक समूह इस प्रपात का निर्माण करता है। 

 

धुँआ कुंड जलप्रपात 

 

सासाराम के पास ताराचण्डी में काव नदी पर स्थित है। 

 

दुर्गावती जलप्रपात 

 

रोहतास के छानपापर गाँव के पास 91 मी ऊँचा प्रपात है।  इसे खादर कोह प्रपात भी कहते हैं। 

बिहार के अन्य प्रमुख जलप्रपात - गुरसिन्धु जलप्रपात, मालूदह जलप्रपात, केरीदाह जलप्रपात, गोआ जलप्रपात आदि है। 

बिहार के  प्रमुख जलकुण्ड