google.com, pub-3332830520306836, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

इस्लाम धर्म, ईसाई धर्म और पारसी धर्म

इस्लाम धर्म

  • इस्लाम धर्म के संस्थापक "हजरत मोहम्मद" साहब थे।

  • मुहम्मद साहब का जन्म 570 ई में "मक्का" साउदी अरब में हुआ था।

  • मुहम्मद साहब के पिता का नाम "अब्दुल्ला" और माता का नाम "फातिमा" था।

  • हजरत साहब की बेटी का नाम "फातिमा" था।

  • 40 वर्ष की अवस्था 619ई में मोहम्मद हजरत साहब को "मक्का" के पास "हीरा नामक" गुफा में ज्ञान की प्राप्ति हुई थी।

  • 622ई में हजरत मुहम्मद साहब की मक्का से मदीना तक कि यात्रा इस्लाम जगत में मुस्लिम सम्वत या हिजरी सम्वत कहलाया।

  • हजरत मुहम्मद साहब की मृत्यु 8 जून 632 ई को हुई इसके बाद उन्हें मदीना में ही दफनाया गया था।

  • हजरत मुहम्मद साहब के उपदेश "हदीस" नामक पुस्तक में संग्रहित है।

  • इस्लाम धर्म का सबसे प्राचीन ग्रन्थ "कुरान" है।

  • हजरत मुहम्मद साहब ने  ज्ञान की प्राप्ति के बाद स्वयं को पैगम्बर या देवदूत घोषित किया।

  • हजरत मुहम्मद साहब की मृत्यु के पश्चात इस्लाम धर्म दो भागों - सुन्नी और सिया में बंट गया था।

  • हजरत मुहम्मद साहब की शिक्षाओं में विश्वास रखने वाले लोग "सुन्नी" कहलाये।

  • हजरत मुहम्मद साहब के दामाद की शिक्षाओं में विश्वास रखने वाले लोग "सिया" कहलाये।

  • हजरत मुहम्मद साहब के उत्तराधिकारी "खलीफा" कहलाये।

  • 1924 में तुर्की के शासक मुस्तफा कमाल पाशा ने "खलीफा" के पद को समाप्त कर दिया था।

  • हजरत मुहम्मद साहब के जन्म दिन को इस्लाम जगत में "ईद-ए-मिलाद-उल-नवी" नामक पर्व के रूप में मनाया जाता है।

 

ईसाई धर्म

  • ईसाई धर्म के संस्थापक "ईसा मसीह" थे।

  • ईसा मसीह के जन्म "बेथेलहेम" गांव में "जेरुसलम" में हुआ था।

  • ईसाई सम्प्रदाय में ईसा मसीह के जन्म दिवस को "क्रिसमस" के रूप में जाना जाता है।

  • ईसा मसीह के पिता का नाम जोजफ और माता का नाम "मरियम" था।

  • मसीह का शाब्दिक अर्थ "परमपिता के पुत्र" है।

  • यहूदी नियमानुसार सबसे अधिक पवित्र दिन "शनिवार" है।

  • ईसा मसीह की हत्या रोमन गवर्नर "पोटियन्स" ने सूली पर लटकाकर कर दी थी।

  • ईसा मसीह की मृत्यु और पुनर्जन्म को "इस्टर" के रूप में मनाया जाता है।

  • ईसाइयों की उपासना स्थल को "चर्च या गिरजाघर" कहते हैं।

  • ईसाइयों के सबसे बड़े धार्मिक नेता "पोप" कहलाते हैं।

  • ईसाइयों के पवित्र ग्रन्थ "बाइबिल" है।

 

पारसी धर्म या जरथुस्त्र

  • पारसी धर्म के संस्थापक "जरथुस्त्र" थे।

  • पारसी धर्म का पवित्र धार्मिक ग्रन्थ "जेंद अवेस्ता" है।

  • सन्त जरथुस्त्र की शिक्षाओं और उपदेशों का संकलन "जेंद अवेस्ता" में है।

  • पारसी धर्म के अनुयायी "अग्निपूजक" कहलाये।

  • पारसी धर्म के लोग सर्वप्रथम भारत में "गुजरात" में आकर बसे थे।