google.com, pub-3332830520306836, DIRECT, f08c47fec0942fa0

 अम्ल, भस्म और लवण (Acid, Base and Salt)

अम्ल (Acid)

अम्ल वे यौगिक होते हैं, जिनमें हाइड्रोजन प्रति स्थाप्य के रूप में होता रहता है।

  1. आरहेनियस के अनुसार - अम्ल वे पदार्थ होते हैं जो जल में घुलकर  हाइड्रोजन आयन देता है।

  2. ब्रान्स्टेड - लॉरी सिद्धान्त के अनुसार अमल वह यौगिक है, जिसमें इलेक्ट्रान की एक निर्जन जोड़ी स्वीकार करने की प्रवृत्ति होती है।

  3. रोबर्ट बॉयल के अनुसार अम्ल वे पदार्थ हैं जो :- 

  • स्वाद में खट्टे हों।

  • वनस्पति के नीले रंग को लाल कर देते हैं।

  • बहुत से पदार्थों को घुला देने की क्षमता रखता हो।

 

अम्लों के उपयोग :- 

  • जैसे खाने के काम में।

  • HCL का उपयोग खाना पचाने में होता है, यह हमारे आमाशय की ग्रन्थियों से स्रावित होता है।

  • HNO3 का उपयोग सोना एवम चांदी के शुद्धिकरण में होता है।

  • लोहा पर जस्ते की परत चढ़ाने से पहले सल्फ्यूरिक अमल और नाइट्रिक अमल के द्वारा लोहे को साफ किया जाता है।

  • सल्फ्यूरिक अमल का उपयोग संचायक सेल में भी होता है।

  • नाइट्रिक अमल का उपयोग  धातुओं के ऊपर खुदाई करने में, रंग, उर्वरक, विस्फोटक, दवाई इत्यादि बनाने में भी होता है।

  • HCL का उपयोग स्टार्च से ग्लूकोस  बनाने में उत्प्रेरक के रूप में होता है।

 

क्षार (Base)

 

क्षार धातुओं या धातुओं के सदृश आचरण करने वाले मुल्कों के वे यौगिक है जो अम्लों से अभिक्रिया करके केवल लवण और जल बनाते हैं।

  • आरहेनियस के अनुसार, क्षार वह पदार्थ होते है जो जलीय घोल में हाइड्रो ऑक्साइड आयन देता है।

  • लुइस के इलेक्ट्रॉनिक सिद्धान्त के अनुसार, वह पदार्थ जिनमें इलेक्ट्रॉनिक की निर्जन जोड़ी प्रदान की क्षमता होती है।

 

क्षार (भस्म) दो प्रकार के होते हैं:- 

 

जल में विलेय क्षार:- 

  • यह जल में विलेय होता है।

  • लाल लिटमस पत्र को नीला कर देता है।

  • यह तेल एवम गंधक को घुला सकता है।

  • इसका स्वाद कड़वा होता है।

  • जैसे :- KOH, NaOH इत्यादि।

 

जल में अविलेय क्षार:-

  • यह अमल के साथ अभिक्रिया करके लवण एवम जल तो बनाते हैं, परंतु क्षार के अन्य गुण प्रदर्शित नही करते हैं।

  • जैसे:- ZnO, FeO इत्यादि।

 

क्षारों के उपयोग 

1. CaO (कैल्शियम ऑक्साइड) या कली चुना :-

इसका उपयोग कास्टिक सोडा, सोडियम कार्बोनेट, शीशा, ब्लीचिंग पाउडर बनाने में एवम खाने के रूप में किया जाता है।

 

2. KOH (पोटेशियम हाइड्रो ऑक्साइड) या कास्टिक पोटाश का उपयोग:- 

प्रयोगशाला में प्रतिक्रमक के रूप में, मुलायम साबुन बनाने में तथा कार्बन डाई ऑक्साइड एवम सल्फर डाई ऑक्साइड के अवशोषक के रूप में होता है।

 

3. NaOH (सोडियम हाइड्रो ऑक्साइड) या कास्टिक सोडा का उपयोग:-

साबुन बनाने में, कपड़ा एवम कागज बनाने में, दवा बनाने में, पेट्रोलियम को साफ करने में किया जाता है।

 

4.Ca(OH)2 (कैल्शियम हाइड्रो ऑक्साइड) या बुझा चुना का उपयोग:- 

दीवारों की पुताई करने में, गारा एवम प्लास्टर बनाने में, ब्लीचिंग पाउडर बनाने में, खारे जल को मृदु बनाने में, चमड़े के ऊपर के बाल को साफ करने में , अम्ल के जलन पर मरहम के रूप में।

 

5. Mg(OH)2 (मैग्नीशियम हाइड्रो ऑक्साइड) या मिल्क ऑफ मैग्नीशिया एवम Al(OH)2 (एल्युमिनियम हाइड्रो ऑक्साइड) का उपयोग पेट की अम्लीयता को दूर करने में किया जाता है, अतः इसे एंटासिड या प्रति अम्ल भी कहते हैं।

 

लवण (Salt)

 

अम्ल एवम क्षार की प्रतिक्रिया के फल स्वरूप बने पदार्थ को लवण  कहते हैं।

MgO + 2HCL = MgCl2 + H2O

 

लवणों का उपयोग:-

1. NaCl (साधारण नमक):-

  • इसका उपयोग दैनिक भोजन में, क्लोरीन, HCl, धोवन सोडा, कास्टिक सोडा, इत्यादि बनाने में।

 

2. NaHCo3(खाने वाला सोडा):-

  • पेट की अम्लीयता को कम करने में एवम अग्निशामक यंत्रों में होता है।

 

3. Na2Co3(धोवन सोडा):-

  • कपड़ों की धुलाई, कांच बनाने में।

 

4. CuSo4 का उपयोग:-

  • कवकनाशी के रूप में, विधुत लेपन में, रँगाई एवम छपाई में।

 

5. Kno3 का उपयोग:- 

  • गन पाउडर (बारूद) बनाने में, उर्वरक के रूप में।

 

6. K2So2Al2(So4)3 24H2O (फिटकिरी या पोटाश  एलम):-

  • एंटीसेप्टिक के रूप में, रँगाई में, अशुद्ध जल को शुद्ध करने में।

 

pH स्केल:-

  • किसी विलयन की अम्लीयता या क्षारीयता को व्यक्त करने के लिए pH स्केल का प्रयोग होता है।

  • किसी विलयन का pH मान 7 से कम होने पर वह अम्लीय, 7 से अधिक होने पर क्षारीय और 7 होने पर उदासीन होता है।

Design Paper
Contact Us

Contact Information

…  6209908627  

  • Whats app
  • LinkedIn
  • Facebook
  • Twitter

                                              Thanks for your interest in Nutangyankosh.

                      For more information, feel free to get in touch and I will get back to you soon!

©2020 by nutangyankosh. Proudly created with Wix.com